क्रेडिट कार्ड से रेंट के बहाने अपने अकाउंट मे निकालते हैं पैसे? RBI लेने वाला है एक्शन

क्रेडिट कार्ड से रेंट के बहाने अपने अकाउंट मे निकालते हैं पैसे? RBI लेने वाला है एक्शन

क्या आप भी क्रेडिट कार्ड की मदद से किराया भरते हैं या इस तरीके का इस्तेमाल अपने अकाउंट मे क्रेडिट कार्ड से पैसे ट्रांसफर करने के लिए करते हैं? अगर हां, तो सावधान हो जाइए! कई ऐप्स जैसे Cred, PhonePe, NoBroker आदि किराया भुगतान की सुविधा तो देते हैं, लेकिन असल में ये आपके क्रेडिट कार्ड से पैसे निकालने का ही जरिया बन रहे हैं। लोग इस तरीके से अपने रिश्तेदारों के अकाउंट मे अपने क्रेडिट कार्ड से पैसे निकाल लेते हैं और उसका इस्तेमाल कैश की तरह कर लेते हैं।

कुछ ऐप तो इस सेवा का प्रचार इस तरह भी करते हैं की आपको इससे 45 दिन की ब्याज मुक्त राशि मिल सकती है और आप इसका इस्तेमाल कर सकते हैं। जबकि ऐसा बिल्कुल नहीं है। राशि ब्याज से मुक्त जरूर होती है पर इसमे जो कमिशन आप देते हैं वह आराम से ब्याज के रेट से ज्यादा हो जाता है।

दरअसल, ये थर्ड पार्टी ऐप्स पूरी तरह से कानून के दायरे में नहीं आते। भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) ने पाया है कि इन ऐप्स के जरिए हो रहे लेनदेन नियमों के उल्लंघन का मामला है। इसलिए RBI ने इस तरह के तरीके से पैसे निकालने पर रोक लगाने का फैसला किया है।

आइए समझते हैं कैसे ये ऐप्स काम करते हैं:

  • ये ऐप्स कमीशन लेकर आपके क्रेडिट कार्ड से पैसे अपने अकाउंट में ले लेते हैं।
  • फिर आप जिस बैंक खाते का विवरण देते हैं, वहां ये पैसे ट्रांसफर कर देते हैं।
  • परेशानी ये है कि ये खाते अक्सर जमीन मालिक (Landlord) के नहीं होते, बल्कि आपके अपने या किसी रिश्तेदार के होते हैं।

इस तरह क्रेडिट कार्ड से मिलने वाला कैशबैक या रिवॉर्ड तो दूर की बात, आप ऊंचे ब्याज दरों के साथ कर्ज के जाल में फंस सकते हैं। साथ ही, इस कमीशन पर जीएसटी भी लगता है।

RBI इस तरह के लेनदेन को गैर-कानूनी मानता है और जल्द ही इन ऐप्स पर कार्रवाई कर सकता है। इसलिए, क्रेडिट कार्ड से किराया भरने की यह सुविधा बंद हो सकती है।

इसलिए, बेहतर होगा कि आप पारंपरिक तरीकों से ही किराया अदा करें। इससे न सिर्फ आप कानूनी दायरे में रहेंगे बल्कि अपने क्रेडिट स्कोर को भी बनाए रख सकेंगे।

Author: Talkshubh Reporter

Talkshubh is an Indian news website. We write about important news from India, mostly about citizen rights and information that will help them like government news, safety measures and more.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *